7 वर्षीय रिफाह तस्कीन ने एयरक्राफ्ट उड़ाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड,चला लेती है 17 तरह की गाड़ियाँ

एक 7 वर्षीय बच्ची ने अपने कारनामों से दुनिया भर को हैरान कर दिया है. दुनिया में कोई भी इस मुस्लिम बच्ची के बारे में सुनता है तो वह बिना सरहना और तारीफ किये नहीं रह पाता है. इस छोटी सी उम्र में यह बच्ची वह कारनामे कर देती है जो बड़ी उम्र के लोग भी नहीं कर पाते है. इस बच्ची का नाम रिफाह तस्कीन है. रिफाह मैसूर के रहने वाली है और उन्होंने हाल ही में 7 वर्ष की उम्र में 17 तरह की गाडियां चालकर और एयरक्राफ्ट उड़ाकर इतिहास रचा है.

रिफाह ने एयरक्राफ्ट उड़ाकर एक विश्व रिकॉर्ड बनाया है. बच्ची ने अपने इस कारनामे से दुनिया अचंभित कर दिया है. रिफाह दुनिया की सबसे कम उम्र गाड़ियाँ चलाने वाली बच्ची बन गई हैं उन्होंने एक बड़ा रिकॉर्ड कायम कर दिया है.

मैसूर के बन्नीमंटाप में सेंट जोसेफ स्कूल में पढ़ने वाली रिफाह दूसरी कक्षा की छात्रा है. रिफाह अपने पिता को अपना प्रेरणास्रोत मानती है, रिफाह के पिता ताजुद्दीन कभी रेसर हुआ करते थे और वह फिलहाल टाइल्स का बिजनेस करते हैं.

वहीं उनकी मां एक सरकारी स्कूल में अध्यापिका हैं. रिफाह लॉरी, महिंद्रा बोलेरो, टाटा एस, महिंद्रा स्कॉर्पियो, टॉयोटा फॉर्च्युनर, मारुति 800, मारुति वैन, मारुति एस्टीम, जेन, सैंट्रो, फोर्ड, वेरना, इंडिका के साथ-साथ स्पोर्ट्स कार क्वॉड बाइक भी चला चुकी है.

उनके इसी कारनामे के चलते उन्हें 6 नवंबर 2017 को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में जगह दी गई. हालांकि यह मुकाम हासिल करना उनके लिए आसन नहीं रहा रिफाह की उम्र कम होने के चलते उन्हें सरकार की अनुमति के लिए इंतजार भी करना पड़ा.

रिफाह के पिता ताजुद्दीन ने उसके लिए सीट को मोडिफाई किया है जिससे की उनके पैर आसानी से ब्रेक और एक्सलरेटर तक पहुंच सके. ताजुद्दीन बताते हैं कि वह एक रेसर बनना चाहते थे लेकिन कई वजहों के चलते यह नहीं हो सका अब वह अपनी बेटी को इंटरनेशनल रेसक बनाने का सपना देख रहे हैं.

x

Check Also

सीआरपीएफ में दोबारा मिलेगी जवान को नौकरी

चंडीगढ़। राजस्थान निवासी हेड कांस्टेबल सुरेंद्र सिंह को आखिर 10 साल बाद इंसाफ मिल ही गया। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने सीआरपीएफ को ...