राशन दुकानों से अब गरीबों को मिलेगी दाल

राशन दुकानों से अब गरीबों को मिलेगी दाल

बैतूल। सरकारी उचित मूल्य की दुकानों से अभी तक गरीबों को गेहूं और चावल ही दिया जाता था लेकिन नई सरकार के आने के बाद अब गरीबों को दाल भी राशन दुकानें से रियायती दरों पर उपलब्ध कराई जाएगी। हालांकि इसके लिखित आदेश अभी जारी नहीं हुए हैं लेकिन खाद्य विभाग के अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेसिंग में इसके लिए व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए गए हैं।
अगले महीने से शुरू हो सकता है वितरण
वीसी में दिए निर्देशों के अनुसार राशन दुकानों से अब गेहूं-चावल के अलावा गरीबों को दाल का वितरण भी किया जाएगा। क्षेत्र में उपलब्धता के आधार पर दाल का चयन और वितरण होगा। बताया गया कि चना, तुअर, मूंग आदि दालों का वितरण अगले महीने से किया जा सकता है। हालांकि इसके लिखित निर्देश नहीं आए हैं लेकिन वीडियो कांफ्रेसिंग में अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है। इसके पूर्व इसी तरह मक्का का वितरण राशन दुकानों से शुरू किया गया था लेकिन यह योजना दो-चार महीने बाद फेल हो गई थी।
ढाई लाख गरीबों को मिलेगा फायदा
जिले में प्राथमिक परिवारों की कुल संख्या ढाई लाख के करीब होना बताई जाती है।जो प्रतिमाह राशन दुकानों से खाद्यान्न लेते हैं। वैसे राशन कार्डधारकों की संख्या इससे कहीं ज्यादा बताई जाती है लेकिन फूड कूपन विगत तीन सालों से जारी नहीं होने के कारण कई परिवारों को राशन नहीं मिल पा रहा है। स्थिति यह है कि रोजाना लोगों के राशन के लिए खाद्य विभाग में चक्कर काटने के कारण विभाग को दीवार पर नोटिस चस्पा करना पड़ा है कि खाद्यान्न का वितरण पात्रता पर्ची मिलने के बाद ही किया जाएगा।
एक कार्ड पर अधिकतम चार किलो मिलेगी दाल
जिला खाद्य विभाग के मुताबिक वीसी में जो बताया गया कि उनके अनुसार एक कार्डधारक को अधिकतम चार किलो तक दाल दी जाएगी। दाल शासकीय रियायती दरों पर उपलब्ध होगी।बैतूल जिले में कौन सी दाल का वितरण होगा यह अभी बताया नहीं गया है लेकिन प्रदेश स्तर पर जिस दाल की उपलब्धता सबसे ज्यादा होगी उसका ही वितरण राशन दुकानों से किया जाएगा।
इनका कहना
– वीसी में अगले महीने से राशन दुकानों के माध्यम से दाल का वितरण किए जाने के मौखिक निर्देश जारी किए गए हैं। अभी लिखित में कोई आदेश नहीं आए हैं। यदि आवंटन आता है तो अगले महीने से दाल का वितरण शुरू करा दिया जाएगा।
– आशीष दुबे, सहायक आपूर्ति अधिकारी जिला खाद्य विभाग बैतूल।