दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन देश मे शोक की लहर

मंगलभारत नई दिल्ली, 20 July, 2019
कांग्रेस की दिग्गज नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन हो गया. उनका निधन 81 साल में हुआ. वह लंबे से बीमार चल रही थीं. यह भारतीय राजनीतिक और दिल्ली कांग्रेस के लिए बड़ी क्षति है.

दिल्ली की पूर्व CM शीला दीक्षित का निधन, पीएम मोदी से मनमोहन तक ने जताया दुख
कांग्रेस की दिग्गज नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का शनिवार को दिल्ली स्थित एस्कॉटर्स अस्पताल में निधन हो गया. उनका निधन 81 साल में हुआ. वह लंबे से बीमार चल रही थीं. यह भारतीय राजनीतिक और दिल्ली कांग्रेस के लिए बड़ी क्षति है. शीला 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रही थीं. शीला दीक्षित के निधन की खबर से देश में शोक की लहर छा गई. तमाम नेताओं ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत तमाम नेताओं ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और एक वरिष्ठ राजनेता श्रीमती शीला दीक्षित के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. उनका कार्यकाल राजधानी दिल्ली के लिए महत्वपूर्ण परिवर्तन का दौर था, जिसके लिए उन्हें याद किया जाएगा. उनके परिवार और सहयोगियों के प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शीला दीक्षित के निधन पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शीला दीक्षित जी के निधन से गहरा दुख हुआ. उन्होंने ने कहा कि शीला दीक्षित शानदार व्यक्तित्व की धनी महिला थीं. उन्होंने ने दिल्ली के विकास में अहम योगदान दिया. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताया. उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट किया कि वो कांग्रेस की चहेती बेटी थीं. दुख की इस घड़ी में मेरी उनके परिवार और दिल्ली के नागरिकों के प्रति संवेदना है. अपने तीन कार्यकाल में उन्होंने काफी अच्छा काम किया. मैं शीला दीक्षित के निधन से बेहद दुखी हूं.

शीला दीक्षित के निधन पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने दुख जताया. उन्होंने ने कहा कि शीला दीक्षितजी के निधन से गहरा दुख हुआ. उन्होंने मुझे प्यार किया, उन्होंने दिल्ली और देश के लिए जो कुछ भी किया, लोग उसे याद रखेंगे. वह पार्टी की एक बड़ी नेता थीं, पार्टी के प्रति उनका योगदान, राष्ट्र की राजनीति और विशेष रूप से दिल्ली के लिए, अपार है.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताते हुए कहा है कि शीला दीक्षित के अचानक गुजर जाने की बात सुनकर हैरान हूं. आज देश ने जनता के लिए समर्पित नेता को खो दिया. दिल्लीवासी उनके मुख्यमंत्री के रूप में दिल्ली के विकास में किए गए कार्यों के लिए उन्हें हमेशा याद रखेगी.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता जितेंद्र कुमार कोचर ने कहा, 81 साल शीला दीक्षित का एस्कॉटर्स अस्पताल में निधन हो गया.

गृहमंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त किया

कांग्रेस नेता मंगतराम सिंघल ने कहा कि शीला दीक्षित का निधन बहुत बड़ी क्षति है. उनका निधन देश और दिल्ली कांग्रेस के बहुत बड़ा नुकसान है. उन्होंने 15 सालों में दिल्ली का जो विकास किया वो कोई कर नहीं सकता है.

नेशनल कॉन्फ्रेंस उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर शीला दीक्षित के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट किया है कि शीला दीक्षित के निधन की खबर अत्यंत दुखद है. उन्होंने ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमत्री के तौर पर शीला दीक्षित ने शानदार काम किया. उन्होंने कहा कि भागवान उनकी आत्म को शांति दे.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने जताया दुख

पू्र्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता सुषमा स्वराज ने भी शीला दीक्षित के निधन पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ने कहा कि शीला दीक्षित जी के आकस्मिक निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. हम राजनीति में विरोधी थे लेकिन निजी जीवन में दोस्त थे. वह एक बेहतरीन इंसान थीं.

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने भी शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताया.

x

Check Also

गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि होंगे ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो

ब्राजील। ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने अगले साल भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने का प्रधानमंत्री ...