मंत्री के साथ ही भूरिया को मिल सकती है पीसीसी चीफ की कमान

भोपाल (मंगल भारत)।झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में

रिकार्ड मतों से जीत के साथ ही कमलनाथ सरकार ने बहुमत का आंकड़ा पा लिया हैै। इसके साथ ही कांग्रेस को जीत का सेहरा बांधने वाले विजयी प्रत्याशी एवं कांग्रेस के कद्दावर आदिवासी नेता कांतिलाल भूरिया को मंत्री बनाए जाने की अटकलों के बीच कमलनाथ सरकार में फेरबदल की खबरें आ रही हैं। इसके साथ ही उन्हें प्रदेश कांग्रेस का चीफ भी बनाए जाने की संभावनाएं बढ़ गई है। कांतिलाल के झाबुआ विस से कांग्रेस की ओर से 11वें विधायक बनते ही 230 विधायकों वाली मप्र के 115 विधायक हो गए हैं।
नाथ-दिग्विजय की बढ़ी ताकत
कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि कांतिलाल के जीतने से कहीं न कहीं कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की ताकत बढ़ी है। वहीं इसे ज्योतिरादित्य सिंधिया को राजनीतिक रूप से बड़े नुकसान के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि पूरे उपचुनाव के दौरान उन्होंने प्रचार से दूरी बनाए रखी थी, जबकि उन्हें कांग्रेस ने झाबुआ के लिए अपना स्टार प्रचारक बनाया था।
आदिवासियों के बड़े नेता के रूप में उभरे
कांतिलाल की जीत ने यह भी साबित कर दिया है कि वे मप्र कांगे्रस की राजनीति में आदिवासियों के बड़े नेता हैं। मध्यप्रदेश में इस समय करीब 2 करोड़ आदिवासी वोटर हैं। उनके जीतने से कांग्रेस में उमंग सिंघार जैसे आदिवासी नेताओं के मुखर स्वरों को दबाया जा सकेगा।
सपा-बसपा और निर्दलीयों के स्वर दबे
कांतिलाल के जीतने से कहीं न कहीं कमलनाथ सरकार ने बहुमत का तो आंकड़ा पा ही लिया है, इससे पार्टी को समय-समय पर दबाव की राजनीति कर रहे सपा-बसपा और निर्दलीय विधायकों को भी दरकिनार करने का मौका मिल गया है।

x

Check Also

स्कूली के बच्चों का सामान्य ज्ञान बढ़ाने की कवायद, केबीसी की तरह होगी स्पर्धा

भोपाल (मंगल भारत)। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों में सामान्य ज्ञान वृद्धि के लिए अब सरकार नया प्रयोग करने ...