सूबे के दो हजार गांवों को नाथ सरकार देगी आदर्श आंगनवाडिय़ों की सौगात

भोपाल (मंगल भारत)। कमलनाथ सरकार सूबे के दो

हजार गांवों को आदर्श आंगनवाडिय़ों की सौगात देने की तैयारी कर चुकी है। इनके निर्माण के बाद बच्चों को वहां पर मूलभूत सुविधाओं के साथ ही अच्छा माहौल मिल सकेगा। इसके लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने बजट भी जारी कर दिया है। निर्माण के लिए ग्राम पंचायतों को छह माह का समय तय किया गया है। इसके लिए तय किए गए मानकों में यह आंगनवाड़ी केंद्र गांव के बीच ऐसे स्थान पर बनाए जाएंगे, जहां सडक़, पानी, बिजली और किचन गार्डन की पर्याप्त व्यवस्था होगी। आदर्श आंगनवाड़ी में महिला बाल विकास विभाग और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की सहभागिता रहेगी। भवन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग बनवा रहा है और उसमें तमाम सुविधाएं व संसाधन महिला एवं बाल विकास विभाग उपलब्ध कराएगा। ये भवन उन ग्राम पंचायतों में बनाए जाएंगे, जहां आंगनवाड़ी भवन नहीं हैं, लेकिन बच्चों की संख्या 25 से अधिक हैं। इसके अलावा आस-पास के गांवों में उप आंगनवाड़ी हैं। सरपंच और सचिव आंगनवाड़ी बनाने के लिए जमीन उपलब्ध कराने का काम करेंगे। अगर पंचायत की जमीन गांव में नहीं है तो पटवारी शासकीय जमीन उपलब्ध कराएंगे।
अलग-अलग स्तर पर मॉनिटरिंग की व्यवस्था
निर्माणाधीन आंगनवाड़ी भवनों की समीक्षा की जाएगी। 1000 से अधिक भवनों में गति लाने के लिए अलग-अलग स्तर पर मॉनिटरिंग की जाएगी। सरकार ने इस तरह के आंगनवाड़ी भवनों के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए इंजीनियरों और अधिकारियों को छह माह का समय दिया है। हर हफ्ते के निर्माण कार्य की रिपोर्ट ऑनलाइन अपलोड करना होगा। जिन आंगनवाड़ी भवनों का निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है, उनका निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। अगर किसी कारण से निर्माण नहीं हो रहा है तो उसकी राशि सरकार को वापस की जाएगी। इसके बाद आंगनवाड़ी भवन बनाने का प्रस्ताव नए सिरे से सरकार के पास भेजा जाएगा।

x

Check Also

स्कूली के बच्चों का सामान्य ज्ञान बढ़ाने की कवायद, केबीसी की तरह होगी स्पर्धा

भोपाल (मंगल भारत)। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों में सामान्य ज्ञान वृद्धि के लिए अब सरकार नया प्रयोग करने ...