लक्ष्मीकांत शर्मा के लिए अब मुसीबत बना हनीट्रैप, पार्टी के रास्ते पूरी तरह हो सकते बंद

भोपाल (मंगल भारत)।भाजपा सरकार में बेहद

प्रभावशाली रहे लक्ष्मीकांत शर्मा के राजनैतिक तौर पर बुरे दिन अब समाप्त होने के आसार लगभग समाप्त होते नहीं दिख रहे हैं। पार्टी में वापसी की संभावनाओं की तलाश के बीच हनीट्रैप मामले में हुए नए खुलासे ने उनकी आशाओं को लगभग समाप्त कर दिया है। व्यापमं घोटाले में जेल जाने के बाद से ही वे भाजपा से अलग थे। विधानसभा के एक चुनाव में हारने के बाद वे दूसरे चुनाव से पहले जेल जा चुके थे, जिसकी वजह से उन्हें टिकट से वंचित कर दिया गया था। इसके बाद भी वे भाजपा नेतृत्व की सहानुभूति पाए हुए थे। यही वजह है कि उनकी परंपरागत सीट सिरोंज से उनके भाई उमाकांत शर्मा को पार्टी का टिकट मिला था। वे वहां से भाजपा के विधायक हंै। इसके बाद से ही माना जा रहा था कि देर सबेर लक्ष्मीकांत की भी भाजपा में वापसी हो जाएगी। इस बीच हनीटै्रप मामले में आरोपी श्वेता स्वप्रिल जैन के साथ उनका कथित वीडियो और बातचीत का एक ऑडियो भी वायरल होने से उनकी संभावना समाप्त होती दिख रही है। वायरल हुए वीडियो और आडियो में वे जिस तरह पूर्व मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बारे में हमला कर रहे हैं, उससे साफ है कि अब उनके भाजपा में वापसी के सारे रास्ते बंद हो गए हैं।
संघ के करीबी नेताओं में शामिल
व्यापमं घोटाले में गिरफ्तारी से पहले लक्ष्मीकांत शर्मा की गिनती आरएसएस के नजदीकी नेताओं में होती थी। व्यापमं घोटाले में भाजपा और संघ के कई दिग्गज नेताओं ने नाम जुड़े थे, लेकिन गिरफ्तार हुए सिर्फ लक्ष्मीकांत। उनके निकटवर्ती सूत्रों का कहना था कि शिवराज के इशारे पर पहले उन्हेें विधानसभा का चुनाव हराया गया और फिर उन्हें फंसाया गया। फिर भी लक्ष्मीकांत को भरोसा दिलाया गया था कि उन्हें बचा लिया जाएगा। इसलिए उन्होंने किसी भी के खिलाफ मुंह नहीं खोला था। उनकी वजह से संघ एवं भाजपा नेतृत्व की उनके प्रति सहानुभूति थी।
ऑडियो में सुनाई दे रही है आपत्तिजनक भाषा
लक्ष्मीकांत शर्मा की बातचीत का जो ऑडियो वायरल हुआ है, उसमें लक्ष्मीकांत शिवराज के साथ संघ के लिए भी आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करते दिखाई पड़ रहे हैं। हनीटै्रप मामले की आरोपी श्वेता जैन के साथ अंतरंगता का वीडियो भी सामने आया है। इसकी वजह से संघ एवं भाजपा नेतृत्व की भृकुटी एक बार फिर तन गई है। इस पर सफाई देने के लिए लक्ष्मीकांत अब तक सामने नहीं आए हैं। पार्टी नेता भी इस मामले में चुप्पी साध बैठ गए हैं। नए खुलासे से पहले लक्ष्मीकांत पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ कई अवसरों पर साथ थी दिखाई पडऩे लगे थे। लेकिन इतना तय हो गया है कि अब लक्ष्मीकांत के लिए भाजपा के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए हंै।

x

Check Also

स्कूली शिक्षा विभाग के लिए परीक्षा नहीं, डांस जरूरी

भोपाल। नवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को अद्र्धवार्षिक परीक्षा देना अनिवार्य नहीं है, लेकिन डांस सिखाना विभाग ने सर्वोच्च ...