साक्षरता में महिलाओं ने की पुरुषों की बराबरी, 80 फीसदी पास

भोपाल (मंगल भारत)। नए साल में मप्र की महिलाओं

ने शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश के लिए खुशखबरी दी है। यह खुशखबरी मिली है केन्द्र सरकार द्वारा ली गई साक्षरता मे मूल्यांकन के परिणाम से। इस परीक्षा में महिलाओं ने पुरुषों के बराबर सफलता हासिल की है। परीक्षा के परिणामों के मुताबिक पुरुषों व महिलाओं का औसत 80 फीसदी के बराबर ही रहा है। इससे उत्साहित राज्य सरकार अब स्कूलों में लड़कियों को रोजगार का प्रशिक्षण देने की तैयारी भी कर रही है।
परिणाम एक नजर
हाल ही में हुई साक्षरता परीक्षा में प्रदेश से 47 लाख 9333 लोग शामिल हुए। इनमें 18 लाख 97 हजार 382 पुरुष थे। 28 लाख 11951 महिलाओं ने हिस्सा लिया। इस परीक्षा में 38 लाख 26 हजार 564 लोग पास हुए। यानी सफलता का प्रतिशत 80 रहा। इसमें 22 लाख 84 हजार 945 महिलाएं पास हुईं। 15 लाख 41 हजार 619 पुरुषों ने सफलता हासिल की।
केन्द्र से मिला एक अरब
साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत केंद्र सरकार ने प्रदेश को तीन साल में 100 करोड़ रुपए दिए हैं । इसमें 2016-17 में 42 करोड़ 2017-18 में 17 करोड़ और 2018-19 में भी 42 करोड़ रुपए प्रदेश को मिले।
हर जिले में बेटियों को पुलिसिंग की ट्रेनिंग
प्रदेश सरकार बेटियों के रोजगार के लिए विशेष प्रयास कर रही है। इसके लिए नई योजनाएं भी शुरू की गई हैं। हर जिले में हायर सेकेंडरी की 50-50 बच्चियों को पुलिस की ट्रेनिंग दी जा रही है। सरकार की मंशा है कि 12वीं पास करने के बाद ये बच्चियां पुलिस, वन सेवा, सेना या अन्य नौकरी के लिए शारीरिक तौर पर फिट और तैयार भी हो जाएंगी। लड़कियों को खेलों से जोडऩे के लिए भी अलग से स्कूल शिक्षा विभाग ने 70 करोड़ रुपए का बजट जिलों को दिया है। लड़कियों को दूसरे रोजगार के लिए भी उनकी रुचि के अनुसार ट्रेनिंग देने की तैयारी की जा रही है।
इनका कहना है
ये हमारे लिए प्रसन्नता की बात है। साक्षरता परीक्षा में पुरुषों के बराबर महिलाएं पास हुई हैं। हमने लड़कियों के लिए रोजगारपरक ट्रेनिंग देने की भी शुरुआत की है।
– डॉ. प्रभुराम चौधरी, मंत्री, स्कूल शिक्षा

x

Check Also

वृद्धाश्रम में जंजीरों में जकड़े 73 बुजुर्ग, आजाद

हैदराबाद। तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद स्थित एक वृद्धाश्रम से 73 बुजुर्गों को रेस्क्यू किया। सूत्रों के मुताबिक, इन बुजुर्गों को चेन ...