मप्र के किसानों से अधिक कमाते हैं देश के मजदूर

भोपाल (मंगल भारत)। रिकार्ड कृषि विकास दल और

लगातार कृषि कर्मण अवॉर्ड पाने के बाद भी मध्यप्रदेश में किसानों की आय देश के मजदूरों से भी कम है। केंद्र सरकार ने मप्र के किसानों की औसत आय हर माह 6210 रुपए महीना बताई है। यह जानकारी एनएनएसओ के सर्वे के हवाले से दी गई है। जबकि प्रदेश में मजदूरी की सरकारी दर 176 रुपए प्रतिदिन भले ही है, लेकिन एक मजूदर परिवार में कम से कम दो लोग मजदूरी करते हैं। जिसकी वजह से प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय साढ़े सात हजार रुपए महीने है। इस तरह प्राकृतिक आपदा और बढ़ती लागत की वजह से किसानों की आय सबसे कम है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 में कहा था कि 2022 तक किसान की आय दोगुनी करने का लक्ष्य है, लेकिन सरकारी आंकड़ों के हिसाब से इसमें महज 500 रुपए महीने का ही इजाफा हुआ है। इसकी भी वजह प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के रूप में मिलने वाली राशि है।
किसान की आमदनी का गणित
एक किसान परिवार के लगभग सभी सदस्य सीधे तौर पर कृषि कार्य में लगे जुटे होते हैं। इस तरह किसान परिवार 6210 रुपए महीने की कमाई के आधार पर एक सदस्य की आमदनी करीब 1200 रुपए महीने हुई। जबकि मजदूर परिवार में एक से ज्यादा सदस्य मजदूरी में लगे होते हैं। इस परिवार के दो सदस्य भी कमाते हैं तो न्यूनतम मजदूरी के हिसाब से उनकी आमदनी साढ़े दस हजार रुपए महीने से ज्यादा होती है। मनरेगा में लगे लोगों को सरकार पौने दो सौ रुपए दिन मेहनताना देती है। जबकि काश्तकारी समेत अन्य कामों में लगे कारीगर प्रतिदिन इससे कहीं ज्यादा कमाते हैं।
किसानों की आय वृद्धि के लिए चाहिए 12 फीसदी की विकास दर
प्रदेश सरकार के सामने किसानों की आय बढ़ाने के लिए कई चुनौतियां हैं। सरकार इन चुनौतियों के आधार पर ही अपनी कार्ययोजना तैयार कर रही है। इसमें कृषि क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों की मदद भी ली जा रही है। जब किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी, तब प्रदेश की कृषि विकास दर करीब 10 फीसदी थी, जो अब 5.5 फीसदी रह गई है। किसानों की आय वृद्धि के लिए न्यूनतम 12 फीसदी कृषि विकास दर चाहिए। इसके लिए सिंचाई का रकबा बढ़ाना पड़ेगा। अभी 40 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती है। इसे बढ़ाकर 110 लाख हेक्टेयर करना होगा। हार्टीकल्चर का रकबा 18 लाख से बढ़ाकर 40 लाख हेक्टेयर करना जरूरी है।

x

Check Also

देश में 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 64,399 नए मामले

नई दिल्ली, मंगल भारत। देश में कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। पिछले 24 घंटे में कोरोना ...