राकेश सिंह के हाथों में ही होगी फिर प्रदेश भाजपा की कमान, ऐलान जल्द

भोपाल (मंगल भारत)। मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद

पर राकेश सिंह की दोबारा ताजपोशी होना लगभग तय है। अध्यक्ष पद के लिए एक नेता का नाम तय करने और आम राय बनाने की मंशा से प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दिल्ली बुलाया गया है। दिल्ली में होने वाली बैठक में अन्य दिग्गज नेता भी मौजूद रहेंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। अध्यक्ष के नाम का ऐलान पार्टी अगले सप्ताह तक कर सकती है। पार्टी में अध्यक्ष पद के लिए बहुत सारे नेता दावेदार हैं, लेकिन ज्यादा संभावना यह जताई जा रही है कि राकेश सिंह को फिर से मौका दिया जाएगा। सिंह चार बार के सांसद हैं और मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष हैं। उनके अलावा सबसे तगड़े दावेदार खुरई से विधायक व पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह हैं। सिंह की दावेदारी शिवराज के कोटे से हो रही है। अगर अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कराया जाता है, तो सिंह मैदान में होंगे। सिंह का दावा इसलिए भी मजबूत है कि वे पिछड़ा वर्ग से आते हैं। सिंह के अलावा डा. नरोत्तम मिश्रा भी दावेदार हैं। बहरहाल उनका दावा थोड़ा कमजोर साबित हो रहा है। ऐसा इसलिए कि वे ब्राह्मïण वर्ग से आते हैं और गोपाल भार्गव पहले से नेता प्रतिपक्ष के पद पर आसीन हैं। सूत्र बताते हैं कि राकेश के नाम पर केंद्रीय स्तर पर सहमति लगभग बन गई है। पार्टी आला कमान उनके नाम पर आम राय बनाना चाहता है, इसलिए शिवराज को दिल्ली बुलाया गया है। शिवराज के अलावा भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, भार्गव और नरोत्तम को भी दिल्ली बुलाया गया है।
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गहलोत, प्रहलाद पटेल, फग्गन सिंह कुलस्ते और वीरेंद्र खटीक जैसे बड़े नेता भी दिल्ली बैठक का हिस्सा होंगे। बताया जा रहा है कि दूसरे नेता राकेश सिंह को उतना विरोध नहीं कर रहा है, जितना शिवराज खेमा कर रहा है। शिवराज की सहमति के बाद राकेश सिंह के नाम का ऐलान हो जाएगा। अगर वे सहमति नहीं देते हैं, तो पार्टी एक सप्ताह के लिए मामले को टाल सकती है। राकेश सिंह के नाम पर विवाद की स्थिति में सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री वीरेन्द्र खटिक के नाम पर सहमति बन सकती है।

x

Check Also

बड़ी खबर. रात के अंधेरे में उड़ाई जा रही धारा 144 की धज्जियां. सीधी.

मंगल भारत सीधी. जहां पूरे विश्व में लॉक डाउन की स्थित बनी हुई है. उसी के साथ पूरा भारत वर्ष ...