5 राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ का खतरा

दिल्ली, मंगल भारत। नवंबर का महीना शुरू होते ही

सर्दी तो बढ़ी ही है, लेकिन इसके साथ ही बारिश का एक नया सिलसिला भी शुरू हो रहा है। मध्य भारत में तो अभी मौसम ठीक है लेकिन पूर्वोत्तर के राज्यों में बेमौसम बारिश की प्रबल संभावना बन रही है। इसके साथ ही यहां जलजमाव और बाढ़ का भी खतरा मंडरा रहा है। पूर्वोत्तर भारत के अलावा गंगीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भी बादल छाए रहेंगे और कुछ स्थानों पर गर्जना तथा मध्यम हवाओं के साथ अगले 24 से 36 घंटों के दौरान बारिश हो सकती है। बंगाल की खाड़ी पर एक नया निम्न दबाव का क्षेत्र विकसित हुआ है। इस समय यह सिस्टम उत्तर पूर्वी और इससे सटे उत्तरी मध्य बंगाल की खाड़ी पर है अगले 48 घंटों में बांग्लादेश को पार कर जाएगा और पूर्वोत्तर भारत को भी सिस्टम इस दौरान प्रभावित करेगा। पूर्वोत्तर राज्यों में इस समय भी घने बादल छाए हुए हैं और मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा समेत कई जगहों पर पहले से ही बारिश हो रही है। आगामी 48 घंटों तक निम्न दबाव का प्रभाव पूर्वोत्तर भारत पर रहेगा जिससे मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा से लेकर नागालैंड, मेघालय, असम और अरुणाचल प्रदेश में 2 नवंबर तक कई जगहों पर हल्की से मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी बारिश के संकेत हैं। बारिश के साथ बादलों की तेज गर्जना, बिजली गिरने और तेज़ हवाएँ चलने की संभावना है। मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा से लेकर नागालैंड, मेघालय में होने वाली इस बारिश के साथ कुछ स्थानों पर अचानक बाढ़ आने जैसी स्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं। कुछ इलाकों में जलभराव की भी संभावना है। पूर्वोत्तर भारत के अलावा गंगीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भी बादल छाए रहेंगे और कुछ स्थानों पर गर्जना तथा मध्यम हवाओं के साथ अगले 24 से 36 घंटों के दौरान बारिश हो सकती है। इन भागों के तटों से सटे बंगाल की खाड़ी में हलचल काफी अधिक होगी जिससे मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह जारी की गई है।

x

Check Also

मंदसौर में इनामी बदमाश ने टीआई पर चलाई गोली, बाल-बाल बचे

मंदसौर, मंगल भारत। जिले के सीतामऊ थाना क्षेत्र के ग्राम बेलारी में फरार इनामी बदमाश अमजद लाला के आने की सूचना ...