शिव मंत्रिमंडल में तीन नए चेहरों को मिल सकता है मौका

राजेंद्र शुक्ल, संजय पाठक और अजय विश्नोई पूर्व की शिवराज सरकार में मंत्री रह चुके हैं

भोपाल/मनीष द्विवेदी/मंगल भारत। उपचुनाव परिणाम आने के बाद अब सभी की निगाहें शिव मंत्रिमंडल पर लग गई हैं। इसकी वजह है मंत्रिमंडल में पांच पदों का रिक्त होना। दरअसल उपचुनाव में तीन मंत्री हार गए हैं और दो मंत्रियों ने बीते माह ही इस्तीफा दे दिया था।
इसके चलते यह तो तय है कि जल्द ही प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा।  इस विस्तार में दो नाम तो पहले से ही तय माने जा रहे हैं। यह नाम हैं तुलसी सिलावट और गोंविद सिंह राजपूत के। इनके अलावा जिन नए लोगों को शामिल किया जा सकता है उनमें रामपाल सिंह, राजेन्द्र शुक्ल, रमेश मेंदोला , अजय विश्नोई, संजय पाठक और महिला कोटे से सुमित्रा कास्डकर के नाम बताए जा रहे हैं। दरअसल इस बार इंदौर के सांवेर में श्रीमंत कैंप के तुलसी सिलावट को बड़ी जीत दिलाने में मेंदोला की महती भूमिका रही है, जिसके फल स्वरुप उन्हें मंत्रिमंडल में लिया जाना तय माना जा रहा है। उनका नाम पूर्व में भी मंत्री पद के लिए तय हो गया था , लेकिन श्रीमंत समर्थकों के चलते ही उन्हें मौका नही मिल पाया था। इसी तरह से रामपाल का नाम भी इस मामले में मजबूती से लिया जा रहा है। वे व्यक्तिगत रुप से मुख्यमंत्री की भी पसंद तो हैं ही साथ ही उन पर सांची सीट जिताने की भी जिम्मेदारी थी। उन्होंने न केवल सीट जिताई बल्कि उपचुनाव में सर्वाधिक मतों से भी प्रभुराम को जिताने का श्रेय हासिल किया है। पूर्व मंत्रिमंडल विस्तार में भी वे प्रबल दावेदार रह चुके है। पूर्व की शिव सरकार में मंत्री रह चुके राजेन्द्र शुक्ल और संजय पाठक भी इस मंत्री बनने के बड़े दावेदार हैं। शुक्ल पार्टी के न केवल वरिष्ठ विधायक हैं बल्कि मुख्यमंत्री के विश्वसनीय भी माने जाते हैं। इसी तरह से संजय पाठक की ऑपरेशन लोटस में महत्वपूर्ण भूमिका रह चुकी है। उपुचनाव में भी वे खासे सक्रिय रहे हैं। वे प्रदेश के महाकौशल अंचल से आते हैं अभी इस अंचल से कोई भी मंत्रिमंडल में है भी नही। उन्हें अंचल के प्रभावशाली नेता के रुप में जाना जाता है। इसी अंचल से एक और नाम चर्चा में है, वह नाम है अजय विश्नोई का। वे न केवल पहले मंत्री रह चुके हैं बल्कि इलाके के बड़े नेता भी माने जाते हैं। प्रदेश सरकार की महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी के चुनाव हारने की वजह से माना जा रहा है कि महिला कोटे से इस बार कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने के बाद  सुमित्रा देवी उपचुनाव जीती हैं। उन्हें महिला कोटे से मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।
सिलावट व राजपूत का बनना तय
जल्द होने वाले मंत्रिमंडल में श्रीमंत के कोटे से आने वाले तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह का इस बार भी मंत्री बनना पूरी तरह से तय है। कहा तो यह भी जा रहा है कि उन्हें मंत्री बनाने के बाद पुराने विभागों की ही जिम्मेदारी दी जाएगी। यह दोनों नेता उपचुनाव के बीच बगैर विधानसभा के सदस्य रहने के चलते मंत्री बने छह माह होने की वजह से इस्तीफा दे चुके थे।

x

Check Also

मंदसौर में इनामी बदमाश ने टीआई पर चलाई गोली, बाल-बाल बचे

मंदसौर, मंगल भारत। जिले के सीतामऊ थाना क्षेत्र के ग्राम बेलारी में फरार इनामी बदमाश अमजद लाला के आने की सूचना ...