साढ़े तीन लाख के नजदीक जा पहुंचा है नए केसों का आंकड़ा..।

साढ़े तीन लाख के नजदीक जा पहुंचा है नए केसों का आंकड़ा..।


रोजाना नया रिकार्ड बना रहे कोरोना वायरस के कहर से भारत भर में बुरा हाल हो है। लगातार तीसरे दिन तीन लाख से ज्यादा और अब तक के सर्वाधिक नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात 12 बजे तक 24 घंटों में भारत में यह आंकड़ा साढ़े तीन लाख के नजदीक (3,45,147) पहुंच गया है। लगातार आठ दिनों से प्रतिदिन होने वाली कोरोना मरीजों की मौत की संख्या भी रिकॉर्ड तोड़ रही है। देश में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,89,549 हो गई है। अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ 66 लाख 2 हजार 456 हो गई है। गुरुवार रात तक कोरोना वायरस के 3.32 लाख नए केस मिले थे और इसी दौरान करीब 2250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। इस तरह से भारत ने दुनियाभर में कोरोना के मामले में रिकॉर्ड तोड़ दिया है। अमेरिका भी अब डेली केस के मामले में भारत से पीछे छूट गया है जो देश के लिए चिंता की बात है। इसी तरह ठीक होने वालों की दर में भी गिरावट आई है जो प्रतिदिन एक फीसदी गिरती जा रही है।

सोनू सूद ने दी कोरोना को मात, हुए निगेटिव
बहुचर्चित, बहुप्रशंसित तथा कोरोना काल के मसीहा कहे जाने वाले फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने कोरोना को मात देकर अपने प्रशंसकों को खुशखबरी दी है। सोनू सूद ने सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी दी है कि उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ गई है। इस खबर के सामने आने के बाद सोनू काफी खुश हैं और सोशल मीडिया पर अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इस बीच कंगना रनौत ने भी इस बारे में ट्वीट किया है। कंगना रनौत ने सोनू सूद के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, ‘सोनू जी आपने कोविड वैक्सीनेशन का पहला डोज ले लिया था, ऐसे में आप जल्दी ही कोरोना को मात दे सके। शायद आप भारत की बनी वैक्सीन और उसके इफेक्ट्स की तारीफ करना चाहते हो, और साथ ही लोगों को इसके लिए प्रोत्साहित करना चाहें।’ सोनू सूद ने भी अपनी एक तस्वीर शेयर की, जिसमें वो मास्क लगाए नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही इस फोटो के कैप्शन में सोनू सूद ने लिखा- टेस्टिड कोविड 19 निगेटिव। बता दें कि 17 अप्रैल को सोनू सूद कोविड पॉजिटिव हुए थे और उन्होंने सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी दी थी कि वो कोरोना संक्रमित हो गए थे।

अब जाकर बंगाल चुनाव में मुद्दा बना कोरोना
अब जबकि बंगाल में विधानसभा चुनाव का प्रचार अभियान अपने अंतिम दौर में पहुंच गया है तब अचानक कोरोना प्रचार का मुद्दा बनकर उभरा है। कोरोना की दूसरी लहर ने पार्टियों का मुद्दा ही बदल दिया। अब सभी पार्टियों के लिए कोरोना ही अहम मुद्दा है। बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस, वैक्सीन व आॅक्सीजन की कमी को लेकर भाजपा पर हमलावर हो रही है। दूसरी तरफ भाजपा का कहना है कि कोरोना का नियंत्रण करने के लिए प्रधानमंत्री ने पिछले कुछ महीनों में सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कई बैठकें की, लेकिन बंगाल की मुख्यमंत्री ने एक भी बैठक में हिस्सा नहीं लिया। यह दर्शाता है कि मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। अब हालात तो बता रहे हैं कि बंगाल के अंतिम दो चरणों के चुनाव में कोरोना पार्टियों का खेल बदल सकता है। बंगाल में अब तक छह चरणों में 294 विधानसभा सीटों में से 223 के लिए मतदान हो चुका है। बाकी दो चरणों में अभी भी 69 सीटों के लिए वोट पड़ने बाकी हैं।

मोदी-शाह के दौरों में कटौती से लय बिगड़ सकती है…।
वैसे तो भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के धुंआधार कार्यक्रम शुरू से ही अपनी रणनीति के अनुसार आयोजित किए लेकिन अब अंतिम दौर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण उसे अपने इन दोनों स्टार प्रचारकों के चुनाव प्रचार में कटौती करना पड़ रही है जिससे भाजपा की लय बिगड़ सकती है। इन दोनों दिग्गज नेताओं के पिछले चरणों की तरह नियमित रूप से बंगाल आकर चुनाव प्रचार नहीं करने से भाजपा कार्यकर्ताओं का मनोबल भी गिर सकता है, क्योंकि यहां चुनाव प्रचार का सारा दारोमदार अब तक मोदी-शाह ही संभाल रहे थे। ऐसे में बंगाल भाजपा नेतृत्व के सामने अगले चरणों के चुनाव तक पार्टी कार्यकतार्ओं का मनोबल बनाये रखना बड़ी चुनौती होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *