पेगासस मामले में क्या छिपा रही है सरकार: अभिषेक मनु सिंघवी

मंगल भारत। पेगासस जासूसी मामले को लेकर सरकार

के प्रति कांग्रेस का रुख नर्म नहीं हो रहा है। गुरुवार को एक बार फिर सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस ने कहा कि सरकार पेगासस पर सदन में इसलिए चर्चा नहीं कर रही है, क्योंकि उसे इसपर बहुत कुछ छुपाना है। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने पेगासस मामले पर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि उनके पास ऐसी कोई ठोस वजह नहीं है, जिसके आधार पर सदन में इस मामले पर बहस से बचा जा सके। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सरकार से इस मामले में जो भी सवाल पूछा जा रहा है वह बहुत आसान है। उन्हें बस हां या ना में इस बात का जवाब देना है कि क्या सरकार ने पेगासस सॉफ्टवेयर खरीदा था? उन्होंने कहा कि सरकार एक बार इस मामले पर बहस तो करे। इसके बाद हम लोग हर मामले पर बहस करने के लिए तैयार हैं। सिंघवी ने सरकार पर इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई कि इतने आसान सवाल का संसद में जवाब देने के बजाए सरकार इसे सदन के बाहर डिस्कस करना चाहती है। गौरतलब है कि पेगासस मामला पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है। भारत की कई प्रमुख हस्तियों के नाम भी इस लिस्ट में आए हैं।

सदन का वर्तमान मॉनसून सत्र पेगासस जासूसी मामले को लेकर लगातार प्रभावित रहा है। पेगासस मामला सामने आने के बाद से ही संसद में लगातार नारेबाजी चल रही है। इसके चलते कई बार सदन की कार्यवाही स्थगित की जा चुकी है। गुरुवार को भी संसद के दोनों सदनों को पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया गया। विपक्ष इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री की मौजूदगी में संसद में बहस चाहता है। साथ ही कृषि कानूनों को भी वापस लिए जाने की मांग लगातार की जा रही है। इजरायली संस्था एनएसओ द्वारा बनाए गए इस सॉफ्टवेयर से भारत की कई प्रमुख हस्तियों की जासूसी की बात सामने आई है। वहीं दुनिया के कई बड़े देशों के मुखिया और अन्य अधिकारियों के नाम भी इसकी जासूसी की लिस्ट में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *