भ्रष्टाचारी अध्यापक को जिला पंचायत में डकार का पुनः अवसर प्राप्त होगा.?.

मंगल भारत सीधी.  भ्रष्टाचारी अध्यापक / एपीओ को जिला पंचायत में डकार का पुुन अवसर प्राप्त.

भ्रष्टाचार का पर्याय बने श्री भूपेंद्र पांडे वरिष्ठ अध्यापक पहले बीएसी, बीआरसी होते होते जिला पंचायत सीधी में येन केन प्रकारेण सहायक परियोजना अधिकारी के पद पर प्रतिनियुक्ति पर आसीन हुए । इस दौरान उनका अधिकारियों की आव भगत एवं चमचागिरी के बदौलत जिला पंचायत के लगभग सभी प्रमुख शाखाओं के प्रभारी अधिकारी बनकर भारी भरकम भ्रष्टाचार में लिप्त रहकर डकारें मारते रहे । इसी बीच शासन के नियमों को ताक में रखकर अपना परमानेंट संविलियन भी पांडे ने करा लिया  पांडे की अकूत कमाई की जानकारी जब लोकायुक्त को हुई तब उन्होंने छापामार कार्यवाही की जिसमें करोड़ों रुपए की संपत्ति मिली।

 

 

लोकायुक्त छापा के बाद से शासन के नियमों एवं निर्देशों के अनुसार तत्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सीधी के द्वारा उनसे समस्त योजनाओं का प्रभार वापस ले लिया जाकर उनका अनियमित एवं अवैधानिक रूप से किया गया संविलियन आदेश निरस्त कर दिया गया तथा उनके मूल पद अंकित विद्यालय शासकीय हाई सेकेंडरी स्कूल अमर वाह के लिए भार मुक्त किया गया.

 

लेकिन पांडे स्कूल में क्या कर ने जाएंगे इसलिए उन्होंने उच्च न्यायालय से स्टे प्राप्त कर बिना काम के ही कई वर्षों से वेतन प्राप्त कर रहे हैं.

अभी ज्ञात हो रहा है कि नवागत मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  राहुल नामदेव धोटे के द्वारा भ्रष्टाचारी वरिष्ठ अध्यापक पांडे को चारागाह की सुविधा मुहैया कराने की दिशा में धारा 40 92 एवं मध्यान भोजन योजना आदि वही शाखाएं  दी जा रही  हैं . जिससे भ्रष्टाचारी शिक्षक अपनी ही जांच में लीपापोती कर सकें जो एक प्रश्नचिन्ह भी निर्मित कर रहा है जिला पंचायत सीधी पर.

जिनमें उनके द्वारा भारी-भरकम भ्रष्टाचार एवं वित्तीय अनियमितताएं की गई थी तथा जिनकी जांच अभी भी सीईओ जिला पंचायत के पास ठंडे बस्ते में पड़ी हैं जारी चार्ज शीट का जवाब नहीं दिया गया

इस प्रकार कहा जा रहा है कि कई वर्षों से भ्रष्टाचार का भूखा अध्यापक फिर से डकार मारने की जुगाड़ में चारागाह प्राप्त कर चुका है . सीधी जिले की जनता को चाहिए कि भी अपनी सुरक्षा स्वयं करें.

देखना यह है कि जिला पंचायत सीईओ भ्रष्टाचारी वरिष्ठ अध्यापक पांडे के भ्रष्टाचार को उजागर करेंगे या फिर उनकी समस्त भ्रष्टाचार की जांच ठंडे बस्ते में ही पड़े रहने देंगे सीधी जिले की जनता को मुख्य कार्यपालन अधिकारी से न्याय की उम्मीद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *